Skip to main content

Posts

Featured

क़ातिब

बादलों से ऊँची उड़ान
की ख़्वाइश
वो देखतीं तो हैं
आँखों में चमक लेकर,

इंद्रधनुष के रंग
ज़िन्दगी में उकेर कर
उसे बेहतर तो
करना चाहतीं हैं..

वे उस क़ातिब की तरह हैं,
जो स्याही में अपने हाथ
मैले कर
क़ाग़ज़ को ख़ूबसूरत बना दें!

प्यारी माँ,
कभी ये ख्वाइशें
खुद के लिए भी तो देख!

Latest posts

कुर्सियां

स्याही

चाय के प्याले

धूप की खुशबू और ऊन

Metered Words

बावरी सी मैं

Seek the Good

Build Yourself

A Little Girl

NEW